upay

नजर दोष से बचने के उपाय टोटके

नजर दोष से बचने के उपाय टोटके

नजर एक ऐसी बला है जो अगर किसी को लग जाए तो उसका नाश ही समझो | 

नजर किसी को भी लग सकती है चाहे वह व्यक्ति हो,घर हो या कोई काम धंधा हो |

लेकिन, घबराने की कोई बात नहीं है | यहां पर हम आपके लिए लेकर आए हैं

नजर दोष से बचने के उपाय |

पूजा का समान सस्ते दामो में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करें

लेकिन, नजर दोष से बचने के उपाय जानने के पहले हम यह जान ले कि

 नजर लगने के लक्षण कैसे होते हैं ? इसके लक्षण कई हैं |

जैसै-व्यक्ति की अचानक से तबीयत खराब हो जाना, उल्टी आना,चक्कर आना,

अचानक से पेट में दर्द, बच्चों का बिना कारण अचानक से रोना, घर में बिना कारण

आपसी कलह, नई मां का दूध सूख जाना, जानवरों की अकाल मृत्यु ,बैठे-बैठे

अचानक से डर लगना,व्यक्ति का चिड़चिड़ा होना, काम धंधे में अचानक से घाटा लगना,

वाहन का अचानक से खराब होना, एक्सीडेंट होना आदि |

पूजा का समान सस्ते दामो में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करें

अब हम आपको नजर दोष से बचने के  उपाय बता रहे हैं | ये उपाय हैं —

१) सात मिर्ची (हरि) और तीन नींबू ले | आप इसे एक काले रंग के डोरी/धागा में पो लें |

अब इसे अपने कार्य स्थान/ घर/ दुकान को नजर से बचाने के लिए उसके मुख्य द्वार पर लटका दें

| यह जब सूख जाए तो तुरंत पलट दें |

इस क्रिया को रख हर मंगलवार या शनिवार को दोहराएं |

२) लाल सूखी हुई मिर्च, अजवाइन और पीली सरसों लों |

इन्हें मिला लें और किसी पात्र में डालकर जलाएं | इससे जो धुँआ निकलेगा उसको रोगी को  हाथों से दे | यह  नजर  उतारने का एक अन्यतम तरीका है |

३) बुरी नजर दोष के टोटके में आप भैरव मंदिर के पंडित जी से एक काला रंग का अभिमंत्रित किया धागा ले ले और इसे रोगी को पहनावे या धारण करवा दें |

पूजा का समान सस्ते दामो में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करें

४) बिजनेस/व्यापार में लगनेवाली नजर की परेशानी को हटाने के लिए एक हरे रंग का नींबू ले | इसे दुकान या कार्यस्थल की चारों तरफ की दीवारों से छुड़ाएं | अब इस निंबू के बराबर बराबर चार टुकड़े कर लें | इसके बाद इन टुकड़ों को एक-एक करके चारों तरफ फेंक दे | यह क्रिया प्रति शनिवार को करे |

५)  अपने घर को बुरी नजर के प्रभाव से बचाने के लिए  गौमूत्र या गंगाजल  का छिड़काव किया जा सकता है |

६) घर से नजर दोष दूर करने के लिए लोबान ले | इसका धुँआ करें प्रतिदिन |

७) काम धंधे से नजर बाधा को दूर करने के लिए आप चार कील भी ले सकती हैं | इसे अपने कार्यस्थल या घर के अंदर चारों  दीवारों में ठोक दे |

पूजा का समान सस्ते दामो में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करें

८) वाहन को बुरी नजर से बचाने के लिए आठ छुहारे बांधे एक लाल रंग की कपड़े की  पोटली/ थैली में | अब इसे वाहन के अंदर रखें | बुरी नजर का असर गायब हो जाएगा |

९) एक  पीले रंग की कौड़ी लें | आप इसे एक काले रंग के धागे से बांध कर अपने  निवास स्थान के  मुख्य  द्वार के ऊपर बीचों-बीच लटका दें | नए घर को बुरी नजर  दोष के  उपाय में यह एक कारागार उपाय है |

१०) बीमार व्यक्ति व्यक्ति को नजर लगने के बचाव के लिए नमक और राई तथा मिर्च का मिश्रण भी अत्यंत कारगर सिद्ध हुआ है | इस मिश्रण को बीमार व्यक्ति के माथे के ऊपर से सात बार वारे | अब इसे आग में जला दें |

११) नजर दोष से पीड़ित व्यक्ति के ऊपर अगर एक लोटा पानी भरकर सात बार वार जाए तो भी नजर दोष से मुक्ति मिल सकती है | ध्यान रहे क्रिया होने के बाद इस पानी को जोर से कहीं दूर पटक दें और बर्तन को राख से साफ कर लें | लेकिन हां, पानी पटकने के छींटे किसी को भी नहीं लगने चाहिए यह विशेष ध्यान रखने योग्य बात है |

१२) नजर लगने के बचाव में एक अन्य उपाय है कच्चे दूध का प्रयोग | शनिवार को नजर से ग्रसित व्यक्ति के ऊपर कच्चे दूध से उतारा करें यानी सात वार दूध को वारे | अब किसी भी कुत्ते को यह उतारा किया हुआ दूध पिला दें |

पूजा का समान सस्ते दामो में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करें

१३) शनिवार/मंगलवार के दिन बजरंगबली के मंदिर जाएं | वहाँ पर उनके कंधे पर से सिंदूर ले तथा इससे अपने मस्तिष्क पर तिलक लगाए |

इसके अलावा नजर उतारने के कुछ मंत्र भी आपके लिए पेश हैं | ये मंत्र हैं–

१४)        ”वन गुरु इद्धास करू | सात समुद्र सूखे जाती |

चाक बांधू, चकोली बांधू, दृष्ट बांधू |

‘देवदत्त’ नाम बांधू तर बाल बिरामाची आनिंगा |”

सबसे पहले किसी भी चंद्र ग्रहण या सूर्य ग्रहण के वक्त इस मंत्र को सिद्ध करे | अब जब आपको जरूरत पड़े तो किसी पीपल के पेड़ से उसका एक पत्ता तोड़ ले | इस पत्ते के ऊपर जिस व्यक्ति की नजर उतारनी  है उसका नाम देवदत्त के जगह पर मंत्र का जाप करते हुए पूरा मंत्र लिखें | फिर ११ बार ऊपर दिए गए मंत्र का जाप करते हुए इस यंत्र की धूप दीप से पूजा करें | इसके बाद इसे काले रंग के डोरे में बांधकर रोगी को  शुक्रवार या मंगलवार के दिन  गले में  पहना दे  | किसी की भी नजर का प्रभाव इस यंत्र को पहनने के बाद नहीं होगा |

पूजा का समान सस्ते दामो में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करें

१५) एक अन्य मंत्र है–

”ॐ नमो आदेश गुरु का |  गिरह-बाज नटनी का जाया,

चलती बेर कबूतर खाया,   पीवे दारु,  खाए जो मांस,

रोग-दोष को लावे फाँस | कहाँ कहाँ से लावेगा ?

गुदगुद में सुद्रावेगा , बोटी-बोटी में से लावेगा,

चाम-चाम में से लावेगा, नौ नाड़ी बहत्तर कोठा  में से लावेगा,

मार-मार बंदी कर लावेगा | न लावेगा तो  अपनी माता की सेज पर पग रखेगा |

मेरी भक्ति, गुरु की शक्ति, फुरो मंत्र ईश्वरी वाचा | “

किसी पर नजर उतारने के लिए ऊपर दिए गए मंत्र को पढ़ते हुए अगर  मोर पंख के द्वारा झाड़ा जाए तो  नजर का दोष दूर होने में सहायता मिलती है |

१६) “आकाश बाँधो, पाताल बाँधो, बांधो अपनी काया |

तीन डेग की पृथ्वी बांधो, गुरु जी की दाया |

जितना गुनिया गुन भेजें, उतना गुनिया गुन बांधे |

टोना टोनमत जादू |

दोहाई कौरु कमच्छा के,नोनाऊ चमाइन की |

दोहाई ईश्वर गौरी- पार्वती की, ॐ ह्वीं फट स्वाहा |”

चुटकी भर नमक मुट्ठी में लेकर उपरोक्त मंत्र को गुनगुनाते हुए रोगी के ऊपर से सात बार वारे | अब  नमक को नाले में डालकर उसके ऊपर से पानी डाल कर अच्छे से बहा दें व  अच्छी तरह से हाथ धो लें |

पूजा का समान सस्ते दामो में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करें

WHY BUY FROM TIMESHOPEE?
Like Us On Facebook
Follow Us On Instagram

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *